सावधान: चोरों ने हाई सिक्योरिटी वाली गाड़ी को भी चुराने का खोज लिया तरीका

नोएडा: अपनी गाड़ी खरीदने का सपना सभी आम से खास लोगों का होता है, ऐसे में वो ऐसी गाड़ी खरीदना चाहता है जो हाई सिक्योरिटी से लैश हो ताकि कोई उसे चुरा न सके. लेकिन एक कहावत है \”तू डाल-डाल तो मैं पात-पात\” इस कहावत को चरितार्थ कर दिखाया है राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के गाड़ी चोरों ने. चार पहिया गाड़ी चोरी से बचाने के लिए वाहन निर्माताओं ने गाड़ी में इंजन कंट्रोल मॉड्यूल (ई.सी.एम) लगाना शुरू कर दिया, लेकिन चोरों ने इसका भी तोड़ निकाल कर इंजन कंट्रोल मॉड्यूल को भी हैक करने का तरीका निकाल लिया है. अब अधिकतर गाड़ियों में लगे ईसीएम हैक कर ही चोरी की जाती है.


नोएडा पुलिस ने किया ऐसे ही तीन हाईटेक चोरों को किया गिरफ्तार
नोएडा पुलिस ने गुरुवार को ऐसे ही शातिर वाहन चोरों को गिरफ्तार कर लिया. चोरों का यह गिरोह मथुरा गिरोह नाम से महशूर था. राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (दिल्ली,नोएडा, गाजियाबाद, फरीदाबाद) में गाड़ी चोरी कर इसके पार्ट्स को बेच देते थे. एडिशनल डेप्युटी कमिश्नर ऑफ पुलिस (एडीसीपी) रणविजय सिंह ने बताया कि \” सेक्टर 20 थाना पुलिस ने गुरुवार को डीएनडी ( डायरेक्ट टू नोएडा) से तीन शातिर वाहन चोरों को गिरफ्तार किया है.

आरोपितों की पहचान गांव पालसो मथुरा निवासी अनूप शर्मा,राजेश और गांव बैराकी भरतपुर राजस्थान निवासी इमरान उर्फ नकचा के रूप में हुई है. तीनों चोर मास्टर चाबी की मदद से वाहन चुराते थे और जो मोटरसाइकिल या चौपहिया वाहन आधुनिक सुरक्षा प्रणाली ईएसएम से लैश होते थे इतना ही नही जब वह मास्टर चाबी से भी नहीं खुलते थे,तो उन्हें ये ईएसएम हैक कर चोरी करते थे\” सिंह ने बताया कि \”बदमाश चोरी की गाड़ी के नकली नंबर प्लेट, आरसी, इंजन नंबर बदल कर बेच देते थे.\”

एक ही चाबी से गाड़ी चुराने के कारण आरोपितों के पास से जो चोरी के गाड़ी मिली है सबमें समानता एक ही है कि अधिकतर एक ही कंपनी की है. रणविजय सिंह ने बताया कि \”मास्टर चाबी उसको कहते है जिस से कोई दूसरे और तीसरे ताला को भी खोला जा सके, तीनो चोर एक बाइक या कार की चाबी नकली बनवा लेते थे और अधिकतर गाड़ियों में वह उस नकली चाबी की मदद से खोलने की कोशिश करते रहते थे, संयोग से कई गाड़ियों में चाबी लगने से किसी न किसी गाड़ी में चाबी काम कर ही जाती थी. ऐसे में तुरंत वह गाड़ी चुरा लेते थे, गिरफ्तार आरोपितों के पास से आठ बुलेट और तीन होंडा सिटी कारों को बरामद किया गया है,\”

नए मॉडल की गाड़ियों में ईसीएम यानी इंजन कंट्रोल मॉड्यूल लगा होता है. यह एक प्रकार का गाड़ियों में अपडेटेड सुरक्षा प्रणाली होती है.जिससे गाड़ी चोरी होने से बचाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है. इसे इंजिन कंट्रोल यूनिट भी कहा जाता है, यूं समझ लीजिए यह एक तरह का गाड़ी (मुख्यतः चार पहिया वाहनों में)का दिमाग होता है. जो गाड़ी में सारी जानकारी का भंडारन करता है, जैसे हवा का दबाव, सही चाबी का गाड़ी में प्रयोग हो रहा है की नहीं इत्यादि. चोर इसे ही निशाना बनाते है या तो चोर इस सिस्टम को ही बदल देते है या फिर कंप्यूटर से हैक कर अपनी मर्जी से संचालित कर चाबी गाड़ी में प्रयोग कर रफूचक्कर हो जाते है.

admin

Umh News India Hindi News Channel By Main Tum Hum News Paper