बाबरी मस्जिद केस में 28 साल बाद आज फैसले की घड़ी

लखनऊ. अयोध्या में 28 साल पुराने विवादित बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले (Babri Masjid Demolition Case) में फैसले की घड़ी करीब आ गई है. 6 दिसंबर 1992 कोमस्जिद को गिराए जाने के मामले में सीबीआई की स्पेशल कोर्ट (CBI Special Court) आज फैसला सुनाएगी. इस मामले में कुल 49 आरोपी थे, जिसमें से 17 आरोपियों की मौत हो चुकी है. ऐसे में बाकी बचे सभी 32 मुख्य आरोपियों पर फ़ैसला आएगा. कोर्ट ने सभी 32 आरोपियों को फ़ैसले के दिन सुनवाई में व्यक्तिगत तौर पर शामिल होने को कहा है. फ़ैसला सुबह 11 से दोपहर 1 बजे के बीच कभी भी आ सकता है.

इस मामले में मुख्य आरोपियों में बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती, कल्याण सिंह, विनय कटियार, राम विलास वेदांती, ब्रज भूषण शरण सिंह आदि शामिल हैं. इनके अलावा महंत नृत्य गोपाल दास, चम्पत राय, साध्वी ऋतम्भरा, महंत धरमदास भी मुख्य आरोपियों में हैं. जज एसके यादव सुबह 10.30 बजे कोर्ट पहुंचेंगे और उसके बाद कार्रवाई शुरू होगी. पांच आरोपियों एलके आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, सतीश प्रधान, उमा भारती और नृत्य गोपाल दास इनके आने की संभावना बेहद कम है. क्योंकि इनकी उम्र ज्यादा है और इनके न आने को लेकर सुबह स्थिति साफ हो जाएगी. अगर ये नहीं आएंगे तो इनके वकील कोर्ट की कार्यवाही शुरू होते ही व्यक्तिगत रूप से मौजूद नहीं रहने का आवेदन कोर्ट में डालेंगे.

>> 6 दिसंबर 1992 को बाबरी मस्जिद के विवादित ढांचे को पूरी तरह से ध्वस्त होने के बाद थाना राम जन्मभूमि, अयोध्या के प्रभारी पीएन शुक्ल ने शाम 5:15 पर लाखों अज्ञात कार सेवकों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया. इसमें बाबरी मस्जिद गिराने का षड्यंत्र, मारपीट और डकैती शामिल है.
>> 6 दिसम्बर 1992 को मस्जिद के सम्पूर्ण विध्वंस के लगभग 10 मिनट बाद एक अन्य पुलिस अधिकारी गंगा प्रसाद तिवारी ने आठ लोगों के खिलाफ राम कथा कुंज सभा मंच से मुस्लिम समुदाय के खिलाफ धार्मिक उन्माद भडकाने वाला भाषण देकर बाबरी मस्जिद गिरवाने का मुकदमा दर्ज कराया.

>> अशोक सिंघल, गिरिराज किशोर, लाल कृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, विष्णु हरि डालमिया, विनय कटियार, उमा भारती और साध्वी ऋतंभरा इस केस में नामजद अभियुक्त हैं. भारतीय दंड संहिता की धारा 153ए ,153बी , 505, 147 और 149 के तहत यह मुकदमा रायबरेली में चला. बाद में लखनऊ सीबीआई कोर्ट में चल रहे मुकदमे में शामिल कर लिया गया.

admin

Umh News India Hindi News Channel By Main Tum Hum News Paper

Translate »