कोरोना वायरस : की चिंता में अमिताभ बच्चन ने सुनाई कविता, बोले- आवे कोरोना-फोरोना..

मुंबई. चीन से शुरू हुआ कोरोना वायरस (Coronavirus) कई देशों में फैल चुका है. अकेले भारत में ही इसके 70 से भी ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं. और तो और हाल ही में इसके चलते एक व्यक्ति की मौत भी हो गई है. ऐसे माहौल को देखकर अभिनेता अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) बेहद परेशान हैं. उन्होंने तो कोरोना पर चार लाइनों की एक कविता लिख डाली है. इस कविता को अमिताभ (Amitabh Bachchan Poem) ने खुद ही पढ़कर सुनाया. उन्होंने कोरोना पर कविता पढ़ते हुए एक वीडियो भी ट्विटर (Twitter) पर शेयर किया है. खास बात ये है कि कविता की लाइनों के जरिए अमिताभ अलग अंदाज में लोगों को कोरोना वायरस से बचने की सलाह दे रहे हैं.

तेजी से फैल रहे कोरोना वायरस की वजह से लोगों में दहशत है लेकिन इससे डरने की जरूरत नहीं है बल्कि कुछ बातों का ध्यान रखकर इस वायरस की चपेट में आने से बचा जा सकता है. ऐसा ही कुछ अमिताभ बच्चन अपनी कविता में समझा रहे हैं. वो कविता में कह रहे हैं- ‘बहुतेरे इलाज बतावें, जन जनमानस सब. केकर सुनैं केकर नाहीं, कौन बताई ई सब. केऊ कहिस कलौंजी पीसौ. केऊ आंवला रस. केऊ कहिस घर में बैठो, हिलौ ने ठस से मस. ईर कहन और बीर कहन ऐसा कुछ भी करो-ना, बिन साबुन के हाथ धोई के केऊ का भय्या छुओ ना. हम कहा चलो हमऊ कर देत हैं, जैसन बोलैं सब. आवैं दोई कोरोना-फोरोना ठेंगवा दिखाइब तब.’

सदी के महानायक की ये कविता सोशल मीडिया पर खूब पसंद की जा रही है. इसके साथ ही कोरोना से बचाव के लिए उनके सलाह देने का अंदाज भी लोगों को खूब भा रहा है. इस वीडियो को तारीफें तो मिल ही रही हैं और इसके साथ लोग इसे जमकर शेयर भी कर रहे हैं. वीडियो के कैप्शन में अमिताभ ने लिखा- ‘मैं COVID 19 को लेकर चिंता में हूं. इसके लिए मैंने कुछ पंक्तियां लिखी हैं. कृपया सुरक्षित रहिए.’बता दें कि कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के चलते बॉलीवुड भी कम दहशत में नहीं है. कई सेलेब्रिटीज को एयरपोर्ट पर सफर करने के दौरान मास्क पहने और कई एहतियात बरतते देखा गया है. इसके साथ ही कई बॉलीवुड इवेंट कैंसिल हो रहे हैं और तो और हाल ही में ‘सूर्यवंशी’ और ‘राधे’ जैसी बड़ी फिल्मों की रिलीज डेट आगे बढ़ाने की खबर आ रही है. कोरोना को महामारी घोषित करते हुए कुछ राज्यों में सिनेमाघरों को बंद करने के निर्देश भी दे दिए गए हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.