लॉकडाउन: योगी सरकार का बड़ा ऐलान, डोर स्टेप डिलीवरी के लिए 12 हजार वाहन तैयार

दिल्ली, उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक कर ‘लॉकडाउन’ (Lockdown) के दौरान लोगों को परेशानियों से बचाने के लिए घर-घर सामान पहुंचाने (डोर स्टेप डिलीवरी) की तैयारियां की। अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह, अवनीश अवस्थी ने बताया, ‘मुख्यमंत्री ने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक कर प्रदेश की स्थिति की समीक्षा की। 

मुख्यमंत्री ने इस बात पर जोर दिया कि इस दौरान लोगों को घरों में आवश्यक वस्तुओं की कमी न हो, इसके लिए उनके घर सामान पहुंचाने की व्यवस्था की जाए। घर-घर सामान पहुंचाने के लिए ट्रैक्टर, मोबाइल वैन, ई रिक्शा, ठेले आदि सहित कुल 12,133 वाहनों की व्यवस्था दोपहर तीन बजे तक कर ली थी।’ 

उन्होंने बताया कि सरकार धार्मिक स्थलों आदि पर सामुदायिक रसोईघर की भी व्यवस्था कर रही है ताकि इस दौरान गरीब मजदूरों को भोजन उपलब्ध कराया जा सके। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री हेल्पलाइन की मदद से प्रदेश के 10 हजार से अधिक ग्राम प्रधानों से बात की गई और उनसे कहा गया कि अगर गांव में कोई भी व्यक्ति विदेश से आया है तो उसे घर में ही रहने को कहें और उसके बारे में स्वास्थ्य विभाग को सूचित करें। अवस्थी ने बताया कि इसके अलावा प्रत्येक जिले में एक जिला नियंत्रण कक्ष भी बनाया जा रहा है। 


उत्तर प्रदेश सरकार ने बुधवार को पान मसाले पर प्रतिबंध लगा दिया। कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार को रोकने मद्देनजर इस पर रोक लगाई गई है। अपर मुख्य सचिव (गृह एवं सूचना) अवनीश कुमार अवस्थी ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘कल मुख्यमंत्री जी ने आदेशित किया था कि पान मसाले को बैन कर दिया जाए।’ उन्होंने बताया कि इक्कीस दिन के लॉकडाउन (बंद) की अवधि में पान मसाले पर प्रतिबंध रहेगा। वहीं, कार्यालय आयुक्त, खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन, उत्तर प्रदेश की ओर से जारी आदेश में कहा गया कि कोविड-19 वैश्विक महामारी का संक्रमण एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है। इसकी रोकथाम के लिए पूरे प्रदेश में 25 मार्च से बंद घोषित किया गया है। पान मसाला खाकर थूकने या पान मसाले का पाउच छोटा होने के कारण उसका उपयोग करने पर भी कोविड-19 महामारी के संक्रमण फैलने की संभावना को ध्यान में रखते हुए अग्रिम आदेशों तक इस पर तत्काल प्रभाव से प्रतिबंध लगाया जाता है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.