आंखों से भी हो सकता है कोरोना वायरस का संक्रमण, ये एहतियात है जरूरी

लखनऊ, कोरोना वायरस का संक्रमण मुंह व नाक के अलावा आंखों के रास्ते भी होता है। इसलिए मुंह में मास्क लगाने के अलावा आंखों को सुरक्षित रखने रखना जरूरी है। ऐसे में प्रत्येक व्यक्ति को इन दिनों चश्मा भी पहनना चाहिए। संक्रमण से बचाव के लिए सिर्फ मास्क ही पर्याप्त नहीं है।

केजीएमयू में ऑप्थेल्मोलॉजी विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. सिद्धार्थ अग्रवाल कहते हैं कि जब कोई संक्रमित मरीज किसी स्वस्थ व्यक्ति के पास एक मीटर से कम दूरी पर छींकता, खांसता या थूकता है तो वायरस वायु कणों के साथ मिलकर मुंह, नाक व आंखों के पास पहुंच सकते हैं। ऐसी स्थिति में संक्रमण हो सकता है। आमतौर पर लोग मुंह पर मास्क या रुमाल लगा रहे हैं, लेकिन आंखों को लेकर अभी भी हर कोई संजीदा नहीं है। जो लोग कांटेक्ट लेंस लगाते हैं, वह भी अपने आपको सुरक्षित न समङों। बेहतर है कि सभी लोग चश्मा ही लगाएं। जिन्हें चश्मा नहीं लगा, वह धूप का चश्मा लगा सकते हैं।

डॉ. सिद्धार्थ के अनुसार कोरोना वायरस आंखों में जाने पर आंसुओं के जरिए नाक और गले तक पहुंच सकते हैं। फिर यह सांस की नली के जरिये फेफड़ों तक पहुंच जाते हैं। यह स्थिति घातक हो सकती है।

न्यूनतम एक मीटर की दूरी शारीरिक दूरी का ख्याल रखें। आंखों में कभी खुजली या जलन महसूस होने पर उसे हाथों से न मलें, बल्कि हाथ साबुन से धुलें, फिर आंखों में पानी का छींटा मारें। दूसरे की तौलिया, रुमाल का इस्तेमाल कतई न करें। भरपूर नींद लें, हरी शाक-सब्जियों खाएं। आंवला, गाजर मूली, नींबू इत्यादि फायदेमंद है। किसी तरह का तनाव न पालें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.