कोरोना के कारण काम बढ़ा तो एक महिला अधिकारी ने की आत्महत्या

दिल्ली, कोरोना (Coronavirus) जैसी भयानक महामारी (Epidemic) से लड़ने के लिए डॉक्टर, पुलिस, सफाई कर्मचारी, दमकल विभाग के कर्मचारी और आपदा प्रबंधन कर्मचारी दिन रात मेहनत कर रहे हैं। अपने प्राण संकट में डालकर वो देश की सेवा में लगे हैं। आज देश का हर नागरिक उनका ऋणी है। वहीं अरुणाचल प्रदेश (Arunachal Pradesh) से एक बुरी खबर है। यहां एक महिला अधिकारी ने शुक्रवार को अपने आवास पर आत्महत्या कर ली।

अधिकारी के परिवार के सदस्यों ने बताया कि कोविड-19 संकट के मद्देनजर ज्यादा काम होने से वह परेशान थी और उन्हें इस बीमारी से संक्रमण का डर था। पुलिस अधीक्षक तुम्मे एमो ने बताया कि पापुम पारे ने में आपदा प्रबंधन अधिकारी शेरिंग युंगजोम जिनकी उम्र महज 38 साल थी, ने जिला उपायुक्त को संबोधित अधूरा इस्तीफा लिखा और बाथरूम में फांसी लगा ली।

एसपी ने कहा कि यह पत्र उनके कमरे में एक टेबल पर पाया गया। परिवार के सदस्यों ने बताया कि कोरोना महामारी के कारण बढ़े काम और तनाव का असर उनके शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य पर पड़ रहा था। जिसके कारण उन्होंने आत्महत्या कर ली। 

कोरोना की वजह से पूरे देश में लॉकडाउन जारी है। इस बीच लोग अपने घरों में रहने को मजबूर हैं। कोरोना के फैलने का जितना डर लोगों को बाहर जाने पर लग रहा है उतना ही मानसिक डर लोगों को अब घर में रहते हुए सताने लगा है।दरअसल, लॉकडाउन के बाद लोगों पर आर्थिक मंदी ने तनाव बन कर हमला किया है। अब लोगों को अपनी रोजीरोटी की जुगाड़ के साथ-साथ कोरोना के डर से भी लड़ना है। वहीँ दूसरी तरफ पहले से मानसिक रूप से बीमार लोग इस महामारी के चलते और टेंशन में आ गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.