यूपी में बिना मास्क पहने बाहर निकलना पड़ेगा महंगा, पुलिस करेगी सख्त कार्रवाई

लखनऊ. कोरोना (COVID-19) के बढ़ते खतरे को देख अब उत्तर प्रदेश सरकार (UP Government) सख्त फैसले ले रही है. प्रदेश की योगी सरकार ने नाक और मुंह ढंकने के लिए मास्क (Mask) पहनना अनिवार्य कर दिया है. मास्क की जगह गमछा, रुमाल या दुपट्टे का भी इस्तेमाल किया जा सकता है. सरकार ने साफतौर पर कहा है कि मास्क पहने बिना बाहर निकलने वालों पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी. राज्य के अडिशनल चीफ सेक्रेटरी (गृह) अवनीश अवस्थी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘राज्य में मास्क पहनने को अनिवार्य कर दिया गया है. बाहर निकलने पर मास्क न पहनने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जा सकती है.’ योगी सरकार ने अपने आदेश में कहा है, ‘एपडेमिक ऐक्ट 1987 और यूपी एपिडेमिक डिजीज के प्रावधानों के अंतर्गत नियमावली लागू रहने तक हर व्यक्ति को घर से बाहर सार्वजनिक जगहों पर निकलने समय मास्क पहनना अनिवार्य किया जाता है.’

गमछा, रुमाल और दुपट्टा भी विकल्प
मास्क की सीमित उपलब्धता देखते हुए राज्य सरकार ने कहा है कि साफ कपड़े से तीन लेयर का फेसकवर बनाकर भी इस्तेमाल किया जा सकता है. फेसकवर न होने पर गमछा, रुमाल और दुपट्टे को भी फेसकवर के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है. हालांकि, इस बात की भी सलाह दी गई है कि गमछे या अन्य कपड़ों को बिना साबुन से धोए दोबारा इस्तेमाल न किया जाए.

राज्य सरकार के मुताबिक, N-95 मास्क का इस्तेमाल केवल स्वास्थ्यकर्मी ही करेंगे. बिना फेसकवर के सार्वजनिक जगहों पर जाने वालों लोगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई भी की जाएगी. प्रदेश में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 343 पहुंच गई है. इसी को देखते हुए 15 जिलों के हॉटस्पॉट इलाकों को पूरी तरह से सील कर दिया गया है.

admin

Umh News India Hindi News Channel By Main Tum Hum News Paper

Translate »