अगरबत्ती बनाने का व्यापार शुरू कैसे करें

यह व्यवसाय एक जोखिम मुक्त व्यवसाय है क्योकि इस व्यापार में कम निवेश से भी इसकी शुरुआत की जा सकती है. किसी भी व्यवसाय को शुरू करने से पहले कुछ योजना का क्रियान्वयन पहले कर लेना चाहिए जो निम्नलिखित है :-

  • सबसे पहले लागत का निर्धारण कर लें, इसके बाद योजनाओं की सूची तैयार कर लें, जो आपके बजट के अनुसार हो. 
  • सम्भावित बाजार के बारे में पता कर लें, ताकि आप व्यवसाय में आने वाली बाधाओं के बारे में पहले से योजना बना सकें. 
  • व्यवसाय का स्थान निर्धारित कर लें, और व्यवसाय को क्रियान्वित करने का समय निर्धारित कर उसे पूरा करने की कोशिश करे.
  • व्यवसाय के लिए सामग्री की खरीद, उसकी पैकिजिंग सभी चीजों को कैसे करना है इस काम की योजना पहले से तैयार कर लें. 

आप अपने शहर के अनुसार इस तरह की कंपनियों को विभिन्न वेबसाइट के माध्यम से ढूढ़ सकते है, और सामग्रियां प्राप्त कर सकते हैं. आपको कुछ लिंक की मदद से अगरबत्ती में लगने वाली कच्ची सामग्रियों के मिलने का स्थान पता चल जायेगा, जो निम्नवत है –

अगरबत्ती व्यवसाय शुरू करने के लिए स्थान (Location to start a business of Agarbatti manufacturing)

इस व्यवसाय को आप अगर छोटे तौर पर शुरू करने की सोच रहे है तो आप इसे घर से भी शुरू कर सकते है, लेकिन अगर आप इसे बड़े तौर पर करने की सोच रहे है तो आपको अपना बिजनेस शुरू करने के लिए लगभग 1000 स्क्वायर फीट तक की जगह की जरुरत पड़ेगी. 

अगरबत्ती बनाने में लगने वाला समय (Time to make Agarbatti)

अगरबत्ती के निर्माण का समय आपके द्वारा इस्तेमाल की गयी मशीन के अनुसार अलग हो सकता है जैसे की अगर आप ऑटोमेटिक मशीन का इस्तेमाल कर रहे है तो आप 1 मिनट में 150 से 200 अगरबत्ती तक का निर्माण कर सकते है. यदि आप हाथों से इसका निर्माण कर रहे है या करा रहे है तो इसमें लगने वाला समय आपके या कर्मचारी के कार्य करने की क्षमता पर निर्भर करता है. 

अगरबत्ती व्यवसाय को शुरू करने में लगने वाली कुल लागत (Total cost of starting a Agarbatti manufacturing business)

इस बिजनेस को आप 13,000 रूपये की लागत के साथ घरेलु तौर पर भी हाथों से निर्माण कर शुरू कर सकते है, लेकिन अगर आप अगरबत्ती के बिजनेस को मशीन बैठाकर शुरू करने की सोच रहे है तो इसको शुरू करने में लगभग 5 लाख रूपये तक की लागत लग सकती है. इसके मैन्युअल मशीन का दाम 14,000 रूपये तक है, सेमी ऑटोमेटिक मशीन का दाम 90 हजार रुपये तक है. हाई स्पीड मशीन का दाम लगभग 1.15 लाख रूपये तक है.

अगरबत्ती को बनाने में लगने वाली कच्ची सामग्री (Raw material for Agarbatti manufacturing business)

अगरबत्ती को बनाने में लगने वाली कच्ची सामग्रियां उसकी मात्रा और उसके बाजार मूल्य को नीचे संदर्भित किया गया है जिसे जरुरत के अनुसार आप इसकी मात्रा को घटा या बढ़ा कर अपने व्यवसाय को आगे बढ़ा सकते है :

कच्ची सामग्रीमात्रामूल्य
चारकोल डस्ट1 किलो ग्राम13 रुपये 
जिगात पाउडर1 किलो ग्राम60 रुपये 
सफ़ेद चिप्स पाउडर1 किलो ग्राम 22 रुपये  
चन्दन पाउडर1 किलो ग्राम 35 रुपये 
बांस स्टिक1 किलो ग्राम116 रुपये 
परफ्यूम1 पीस400 रुपये             
डीइपी1लीटर  135 रुपये 
पेपर बॉक्स1  दर्जन   75 रुपये 
रैपिंग पेपर1  पैकेट35 रूपये 
कुप्पम डस्ट1 किलो ग्राम85 रुपये

अगरबत्ती को हाथ से बनाने कि प्रक्रिया (Agarbatti manufacturing process)

सामान्यतः दो प्रकार की अगरबत्ती का उत्पादन व्यावसायिक रूप से किया जाता है एक मसाला अगरबत्ती के रूप में दूसरी सुगन्धित अगरबत्ती के रूप में. इसको बनाने के लिए अगरबत्ती प्रीमिक्स पाउडर जोकि चारकोल पाउडर, लकड़ी का पाउडर और जिगात पाउडर का मिश्रण होता है. इसे 2 किलो ग्राम की मात्रा में ले लें. फिर उसमे 1 से डेढ़ लिटर पानी की मात्रा को मिलाकर इसे कड़े रूप में गुथ लें. आप इस गुथे हुए कच्ची सामग्रियों से 2 किलो ग्राम तक अगरबत्ती आसानी से प्राप्त कर सकते है. फिर बांस की पतली स्टिक या छड़ी के ऊपर इसे चिपका दिया जाता है और हाथ से इसको रोल किया जाता है. उसके बाद इसको सुगन्धित तेल में डुबोकर कर सूखाने के बाद इसकी पैकिंग की जाती है.

अगरबत्ती को बनाने में रखने वाली सावधानी (Precautions to make Agarbatti)

अगरबत्ती को कभी भी धुप में नहीं सुखाना चाहिए, इसे हमेशा छाया में सुखाये या सुखाने वाली मशीन के माध्यम से इसे सुखायें. इसको सूखने के लिए इसे अलग अलग करके रखे. अगर आपने ऐसा नहीं किया तो गीली होने की वजह से इनके चिपकने की संभवना रहती है.

अगरबत्ती व्यवसाय के लिए रजिस्ट्रेशन (Agarbatti manufacturing business registration) 

इस व्यवसाय को आपको बड़े तौर पर शुरू करने से पहले कुछ आवश्यक दस्तावेजी कारवाई कर लेनी चाहिए जिनमे शामिल है :-

  • सबसे पहले कंपनी के आकार के अनुसार आप आरओसी में अपने व्यवसाय को पंजीकृत करा ले, ऐसा करने से निवेशकों को आपकी कंपनी पर भरोसा आएगा और साथ ही कागजी करवाई में आपको इसका लाभ मिलेगा.
  • अपने व्यवसाय लाईसेंस के लिए स्थानीय प्राधिकारी के पास आवेदन दे.
  • वहाँ से व्यवसाय पैन कार्ड को प्राप्त करे.
  • वर्तमान का एक बैंक अकाउंट खोले.
  • आप अपने व्यापार को एसएसआई यूनिट में पंजीकृत करा ले.
  • इसके बाद वैट रजिस्ट्रेशन के लिए आवेदन करे, साथ ही व्यापार के चिन्ह को पंजीकृत करा ले, ताकि आपकी कंपनी का ब्रांड नाम सुरक्षित रहे.   
  • अगर आप बड़े तौर पर अपने व्यवसाय की शुरुआत करने जा रहे है, तो अपने विनिर्माण यूनिट के लिए प्रदुषण नियन्त्रण बोर्ड से एनओसी प्राप्त कर ले, और फैक्ट्री का लाईसेंस भी प्राप्त कर ले.

अगरबत्ती बनाने के लिए मशीनों का चुनाव (Agarbatti manufacturing machine)  

आप बड़े या छोटे तौर पर जिस भी रूप में व्यवसाय को शुरू करने की सोच रहे है उसके अनुसार मशीनों का चुनाव करना बहुत आवश्यक है. आमतौर पर अगरबत्ती को बनाने वाली मशीन तीन प्रकार की पाई जाती है जो निम्न है – मैनुअल, ऑटोमेटिक और हाई स्पीड ऑटोमेटिक मशीन. इसके साथ ही कच्चे माल को सूखाने के लिए मशीन, कच्चे माल को मिलाने के लिए भी अलग से मशीन ले सकते है. प्रत्येक मशीन की अपनी एक विशेषता है

  • मैनुअल मशीन : मैनुअल मशीन को ऑपरेट करना बहुत आसान होता है यह डबल और सिंगल पैडल दोनों प्रकार की होती है. इसकी कीमत भी कम होती है साथ ही यह टिकाऊ और बेहतर गुणवता वाली भी होती है. इस तरह के अगरबत्ती बनाने वाले मैनुअल मशीनों की सहायता से अच्छी गुणवता के साथ ही उत्पादन भी बेहतर किया जा सकता है.
  • ऑटोमेटिक अर्थात स्वचालित मशीन : अगर आप अगरबत्ती का बड़ा व्यवसाय करना चाहते है, तो अधिक उत्पादन प्राप्त करने के लिए ऑटोमेटिक मशीन आपके लिए सही विकल्प रहेगा. ये मशीन एक अच्छे पैटर्न, डिजाईन और आकारों में सही होती है, जोकि आपकी आवश्यकताओं के अनुसार बाजार में उपलब्ध है. ऑटोमेटिक मशीन का फ़ायदा ये है कि इस मशीन के द्वारा एक मिनट में 150 से 180 तक अगरबत्ती का उत्पादन किया जा सकता है. इस मशीन में सीधी, गोल और चोकोर प्रकार की स्टिक का उपयोग अगरबत्ती के लिए किया जा सकता है.
  • हाई स्पीड मशीन : इस तरह के मशीन में आपको कम कर्मचारियों की आवश्यकता पड़ेगी. यह पूरी तरह से स्वचालित मशीन होती है. इसके उपयोग से न्यूनतम मजदूरी खर्च पर ज्यादा उत्पादन प्राप्त किया जा सकता है. इस मशीन के माध्यम से एक मिनट में 300 से 450 तक अगरबत्ती स्टिक का उत्पादन किया जा सकता है. इस मशीन में अगरबत्ती की लम्बाई 8 से 12 इंच तक भी रख सकते है.

अगरबत्ती को सुखाने के लिए मशीन (Agarbatti dryer machine)

बाजार में विभिन्न तरह के मॉडल के साथ अगरबत्ती सुखाने वाली मशीन उपलब्ध है. आप इस मशीन को लगा कर 8 घंटे में 160 किलो ग्राम अगरबत्ती को सुखा सकते है, जिससे कम समय में उत्पादन बढ़ जायेगा. यह मशीन लगभग 25 हजार रूपये तक की आ सकती है. लेकिन अगर आप घरेलु रूप से अगरबत्ती का उत्पादन कर रहे है तो आप अगरबत्ती को पंखे के नीचे फैलाकर सुखा सकते है.   

अगरबत्ती के पाउडर को मिलाने वाली मशीन (Agarbatti powder mixer machine)

इस मशीन के माध्यम से सुखी और गीली दोनों तरह के पाउडर का मिश्रण तैयार किया जा सकता है. यह मशीन कई तरह के आकार और अपने उत्पादन क्षमता में कस्टम में उपलब्ध कराई जाती है. इस मशीन की कुल लागत लगभग 32,000 रूपये हो सकती है.

अगरबत्ती की पैकिजिंग (Agarbatti manufacturing packaging)

किसी भी वस्तु को खरीदने से पहले ग्राहक उसकी पैकिंग को देखते है. अगर आगरबत्ती की पैकिंग अच्छी हो तो यह ग्राहक को पहली नज़र में खरीदने के लिए आकर्षित करेगी, इसलिए इसकी पैकिजिंग पर विशेष ध्यान देना चाहिए. पैकिंग के बाद इसकी मार्केटिंग आप किसी भी स्टोर में कर सकते है. अगरबत्ती की पैकिंग मशीन या हाथ दोनों के माध्यम से की जाती है. घरेलु रूप में हाथो से अगरबत्ती की गिनती करके इसे पहले प्लास्टिक के पाउच में भर कर फिर कंपनी का लोगो या नाम लगे हुए रंगीन प्लास्टिक या कार्डबोर्ड डब्बे में भरा जाता है.

मशीन के माध्यम से इसकी पैकिंग ऑटोमेटिक रूप से होती है जिसमे अगरबत्तियों की गिनती होते हुए प्लास्टिक पाउच में भरने की प्रक्रिया अपने आप होती है, अन्यथा एक अगरबत्ती की गिनती के लिए मैन्युअल मशीन भी आती है जिससे सिर्फ अगरबत्ती की गिनती होती है बाकि प्रक्रिया हाथों के माध्यम से होती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.