यूपी : लॉकडाउन – 4.0 में ज्यादा छूट की गुंजाइश नहीं

लखनऊ, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संकेत दिया है कि लॉकडाउन के चौथे चरण में बहुत ज्यादा छूट की गुंजाइश नहीं है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि बहुत सारे लोग बाहर से आए हैं। यह हमारे लिए चुनौतीपूर्ण समय है। हम नहीं चाहते कि कम्युनिटी स्प्रेडिंग हो।

सीएम योगी ने यह बात शनिवार को टीवी चैनल से बातचीत में कही। लॉकडाउन के चौथे चरण के बाबत सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि लॉक डाउन में कुछ भी शिथिलता देने में हमें कठिनाई है। जो आ रहे हैं, उनकी भी व्यवस्था करनी है। हमने केंद्र सरकार को कुछ सुझाव भेजे हैं। उसके बाद हम कदम उठाएंगे। प्रदेश की जनता के लिए जो भी उचित होगा, उसे हम जरूर करेंगे।

सीएम योगी ने भीड़भाड़ वाले प्रतिष्ठानों को न खोलने का संकेत दिया। कहा कि ऐसे एरिया वाले प्रतिष्ठानों को अभी हम खोल दें, ऐसा मुझे नहीं लगता। मुख्यमंत्री ने कहा कि जितने श्रमिक लोग आये हैं, यह हमारे अपने हैं, हमारी ताकत है। इसमें किसी का भी अनादर न हो।

पैदल या ट्रक में आ रहे मजदूरों को यूपी में नहीं मिलेगी एंट्री
लॉकडाउन में पैदल या ट्रकों से अपने घर जाने के लिए निकले लोगों के साथ लगातार हाे रहे हादसों के बाद याेगी सरकार चेत गई है। मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी ने पैदल, दो पहिया वाहन, ट्रक आदि से राज्य की सीमा में आने वाले किसी भी व्यक्ति को दाखिल नहीं होने देने के निर्देश दिए हैं। यदि कोई व्यक्ति सीमा पार कर आ जाता है तो उसे रोकर स्वास्थ्य विभाग द्वारा दिए गए निर्देशों के मुताबिक कार्यवाही की जाए। किसी भी प्रवासी व्यक्ति को रेल लाइन अथवा सड़क मार्ग पर चलने नहीं दिया जाए। 

यूपी में टूटा रिकॉर्ड, एक दिन में सबसे ज्यादा 203 लोग संक्रमित
उत्तर प्रदेश में शनिवार को कोरोना संक्रमण ने रिकॉर्ड तोड़ दिया। एक दिन में 203 मरीज सामने आए। इससे पहले 25 अप्रैल को सबसे ज्यादा 177 मरीज कोरोना संक्रमित पाए गए थे। अब तक 4,258 मरीज कोरोना पॉजिटिव पाए जा चुके हैं। शनिवार को नौ कोरोना मरीजों ने दम तोड़ दिया। प्रदेश में अब तक 104 मौतें हो चुकी हैं।

केंद्र सरकार ने किया आगाह, मेरठ की स्थिति खराब
कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर केंद्र सरकार ने मेरठ के प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग को आगाह किया है। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव प्रीति सूदन ने मेरठ सहित देश के 30 से अधिक महानगरों में कोरोना वायरस की स्थिति को लेकर चिंता जताई। उन्होंने मेरठ को लेकर कहा कि यहां की स्थिति चिंताजनक है। यदि सख्त से सख्त कार्रवाई अमल में नहीं लाई गई तो 15 दिनों में केस दोगुने हो जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.