हमारे खिलाफ देशद्रोही और आतंकवादी की तरह FIR करानी शुरू कर दी गई : स्वामी रामदेव

हरिद्वार. पतंजलि योगपीठ की ‘कोरोना दवा’ पर बाबा रामदेव ने अपने आलोचकों को आज जवाब दिया है. योगपीठ का कहना है कि आयुष मंत्रालय ने पतंजलि रिसर्च फ़ाउंडेशन की दवा को हरी झंडी दे दी है और मंत्रालय के निर्देश के अनुरूप अब इसे पूरे भारत में बेचा जा सकता है. पतंजलि (Patanjali Ayurveda) की ओर से यह भी कहा है कि बाबा रामदेव और पतंजलि योगपीठ भारत को विश्वगुरु बनाने के अभियान में जुटे हुए हैं, लेकिन कुछ लोग उन्हें बेवजह गाली दे रहे हैं.

बाबा रामदेव ने बुधवार को हरिद्वार में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि कोरोनिल के लॉन्च होने के बाद कुछ लोगों ने बवंडर मचा रखा है. पतंजलि ने पलटी मारी, पतंजलि फेल, ऐसा कह-कहकर कुछ लोग स्वामी रामदेव की जाति और धर्म को लेकर गंदा माहौल बना रहे हैं. जैसे कि योग, आयुर्वेद का काम करना गुनाह हो. पतंजलि के काम से विरोधियों के मंसूबे पूरे नहीं हुए तो हमारे खिलाफ देशद्रोही और आतंकवादी की तरह FIR करानी शुरू कर दी गई. आपको बता दें कि आयुष मंत्रालय (AYUSH Ministry) की ओर से मंगलवार को पतंजलि योगपीठ की कोरोना किट (Corona Kit) में शामिल दवाओं के इम्युनिटी बूस्टर के रूप में इस्तेमाल को हरी झंडी मिलने के बाद आज पतंजलि ने अपना पक्ष रखा.

प्रेस रिलीज़ में कोविड-19 के मरीज़ों पर क्लीनिकल ट्रायल के बारे में जानकारी दी गई है (देखें तस्वीर) और कहा गया है, ‘यह आयुर्वेदिक औषधियों का कोविड-19 पॉज़िटिव रोगियों पर किया गया पहला सफल क्लीनिकल कंट्रोल ट्रायल था. अब हम इन औषधियों के मल्टीसेंट्रिक क्लीनिकल ट्रायल की दिशा में अग्रसर हैं.’

प्रेस रिलीज़ में कोविड-19 के मरीज़ों पर क्लीनिकल ट्रायल के बारे में जानकारी दी गई है (देखें तस्वीर) और कहा गया है, ‘यह आयुर्वेदिक औषधियों का कोविड-19 पॉज़िटिव रोगियों पर किया गया पहला सफल क्लीनिकल कंट्रोल ट्रायल था. अब हम इन औषधियों के मल्टीसेंट्रिक क्लीनिकल ट्रायल की दिशा में अग्रसर हैं.’

admin

Umh News India Hindi News Channel By Main Tum Hum News Paper

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »