क्या विकास दुबे फरीदाबाद के होटल में छिपा था, पुलिस के पहुंचने से पहले भाग निकला

लखनऊ मोस्ट वांटेड हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे हरियाणा के फरीदाबाद में नेशनल हाईवे के पास एक होटल में रुका हुआ था। उसके साथ दो और साथी ठहरे थे। विकास फरीदाबाद में रहने वाले अपने एक परिचित की मदद से दिल्ली की कोर्ट में समर्पण करने की तैयारी में था। एसटीएफ और हरियाणा पुलिस को मंगलवार शाम इस बारे में भनक लगी लेकिन इन टीमों के पहुंचने से पहले एक बार फिर विकास दुबे का नेटवर्क भारी पड़ गया और वह वहां से फरार हो गया। दिल्ली, हरियाणा और यूपी सीमा पर नाकेबंदी कर दी गई थी। 

कानपुर के बिकरू में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या कर भागे विकास दुबे पर ढाई लाख रुपये इनाम घोषित किया जा चुका है। साथ ही उसे पकड़ने के लिए एसटीएफ और पुलिस की दर्जनों टीमें पांच दिन से लखनऊ, दिल्ली, राजस्थान और नेपाल सीमा पर छापेमारी कर रही थीं। फरीदाबाद के इस होटल में जब पुलिस अधिकारी पहुंचे तो होटल मैनेजर से पूछताछ करने के अलावा कुछ नहीं कर सके। यहां पता चला कि वह एक दिन पहले ही इस ओयो होटल में आया था। 

होटल के रजिस्टर से पता चला कि विकास और उसके दो साथियों के लिए एक कमरा फरीदाबाद की भारत कालोनी में रहने वाले एक परिचित ने बुक कराया था। उसने ही ऑन लाइन बुकिंग करा कर अपने क्रेडिट कार्ड से भुगतान किया था। कुछ रुपये उसने नगद भी दिये थे। पुलिस इस मददगार की तलाश कर रही है। वहीं रजिस्टर में दीपक दुबे का गलत नाम व पता नोट कराया गया था। परिचय पत्र भी फर्जी लगा हुआ था। फरीदाबाद कार्यालय के मुताबिक फरीदाबाद पुलिस ने रजिस्टर अपने कब्जे में ले लिया है। 

पुलिस अफसरों के मुताबिक बड़खल चौक के पास ओयो होटल है। इसमें विकास के रुकने की सूचना पर पुलिस पहले उसके मददगार को लेने भारत कालोनी पहुंची। यहां उसने दो लोगों को हिरासत में लिया और उन्हें लेकर होटल पहुंच कर घेरा बंदी की। पर, पुलिस के पहुंचने से पहले वह फरार हो चुका था। सीसी फुटेज में वह बाहर खड़ा दिखायी पड़ा। रिसेप्शन के पास की भी फुटेज मिली है। इसमें नीली टीशर्ट पहने वह खड़ा हुआ है। उसके पास एक काला बैग भी था। बाल उसने काफी छोटे करा रखे हैं। एसटीएफ की एक टीम भी देर रात के लिए वहां रवाना हो गई थी। 

admin

Umh News India Hindi News Channel By Main Tum Hum News Paper

Translate »