आपके बैंकिंग ऐप क्रेडिट कार्ड पर खतरा

 दिल्ली. आज के समय में पूरी दुनिया में तेजी से डिजिटलीकरण को बढ़ावा मिल रहा है. कोरोना संकट में इसमें बड़े स्तर पर बढ़ोतरी हुई है. आंकड़ों से पता चलता है कि मौजूदा महमारी के बीच ऑनलाइन ट्रांजैक्शन और डिजिटल पेमेंट तेजी से बढ़ा है. लेकिन, इन सबके साथ ऑनलाइन फ्रॉड और साइबर ठगी का मामला भी उतनी ही तेजी से बढ़ा है. हाल ही में बिल गेट्स, इलॉन मस्क और अमेरिकी राष्ट्रपति उम्मीदवार जोए बाइडेन के ट्विटर अकांउट तक हैक कर लिए गए थे.


ThreatFabric नाम की नीदरलैंड की एक साइबर सिक्योरिटी फर्म ने हाल ही में एक नये मालवेयर के बारे में जानकारी है. इस मालवेयर का नाम BlackRock है. इस मालवेयर की मदद से हैकर्स और ऑनलाइन ठगी को अंजाम देने वाले एंड्रायड के 337 मोबाइल ऐप्स को टार्गेट कर रहे हैं. इन ऐप्स के जरिए वो क्रेडिट कार्ड व डेबिट कार्ड संबंधी जानकारियां चोरी कर रहे हैं. रिपोर्ट में कहा गया है कि साल 2014 के बाद बैंकिंग ट्रोजन में बड़े स्तर पर इजाफा हुआ है. हालांकि, 2019 में यह कम हुआ था. अब 2020 में एक बार फिर इसमें तेजी से इजाफा हो रहा है.

कैसे जानकारी चुराता है ये मालवेयर?

दरअसल, BlackRock नाम का यह नया मालवेयर मोबाइल ऐप्स के कीलॉगर फन्क्शन की मदद से फेक विंडो बनाता है. ऐप में एक्सेस करने के लिए यह मालवेयर यजूर्स कार्ड डिटेल्स की जानकारी मांगता है. जैसे ही यूजर्स ये जानकारी भरता है, वैसे ही हैकर्स इसे चुरा लेते हैं.

admin

Umh News India Hindi News Channel By Main Tum Hum News Paper

Translate »