जेवर एयरपोर्ट के पास जमीन लेने जा रहे हैं तो हो जाएं अलर्ट, जानें वजह

नोएडा. जेवर एयरपोर्ट (Jewar Airport) का काम शुरू होने के साथ ही जेवर से लगे नोएडा (Noida), ग्रेटर नोएडा और यमुना एक्सप्रेसवे (Yamuna Expressway) के इलाकों की जमीन के भाव आसमान छू रहे हैं. जगह-जगह प्लॉट काटकर बेचे जा रहे हैं. लेकिन इसकी आड़ में जमीन का गोरखधंधा भी चल रहा है. ग्राम समाज और ग्रामसभा की जमीनों को बेचा जा रहा है. जिस जमीन को यमुना अथॉरिटी (Yamuna Authority) अधिग्रहित करने वाली है उसके भी बड़े-बड़े लुभावने विज्ञापन देकर मोटे रेट पर बेची जा रही है. ऐसा ही एक मामला टप्पल और एक्सप्रेसवे के बीच में सामने आया है. जल्द ही यमुना अथॉरिटी पर कार्रवाई कर सकती है. मामला पुलिस (Police) तक भी पहुंच गया है.

एक्सप्रेसवे के पास बेची जा रही ग्राम समाज की जमीन

सूत्रों की मानें तो यमुना एक्सप्रेसवे के पास कुछ लोग 100 से 200 वर्गगज तक के प्लॉट बेच रहे हैं. प्लॉट के रेट 10 से 12 हजार रुपये प्रति वर्गगज हैं. जबकि यह जमीन ग्राम समाज की है. जमीन बेचने वाले बता रहे हैं कि जमीन को ग्राम सभा ओर यमुना अथॉरिटी की मंजूरी है. जबकि अथॉरिटी ने ऐसी कोई मंजूरी वहां जमीन बेचने के लिए नहीं दी है. अब जमीन बेचने की खबर अथॉरिटी को भी हो गई है. अथॉरिटी कभी भी वहां जमीन बेचने वाले भूमाफियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई कर सकती है.

अथॉरिटी से जुड़े अफसरों की मानें तो उस एरिया की जमीन को अथॉरिटी अधिग्रहित करने के लिए चिन्हित कर चुकी है. बीच में तो अथॉरिटी ने जमीन पर से अतिक्रमण हटाना भी शुरू कर दिया था. लेकिन फिर कुछ कानूनी अड़चन के चलते काम रुक गया. लेकिन अथॉरिटी का दावा है कि एक बार फिर से जल्द ही अधिग्रहण की कार्रवाई शुरू की जाएगी.

जानकारों की मानें तो गलत जानकारी देकर गैरकानूनी रूप से जमीन बेची जा रही है. इसके लिए जगह-जगह जमीन का प्रचार भी किया जा रहा है, विज्ञापन भी निकाले जा रहे हैं. इतना ही नहीं विज्ञापन में जमीन को जेवर एयरपोर्ट से 5 किमी दूर, मेट्रो स्टेशन से 5 किमी की दूरी, इंटरनेशनल स्टेडियम से 10 मिनट की दूरी, डीएलएफ मॉल से 40 मिनट तो दिल्ली के आश्रम से 45 मिनट की दूरी पर जमीन बताई जा रही है.

FacebookTwitterPinterestBloggerWhatsAppTumblrGmailLinkedInPocketPrintInstapaperCopy LinkDigg

Umh News

Umh News India Hindi News Channel By Main Tum Hum News Paper