CWG 2022: जेरेमी लालरिनुंगा ने भारत को दिलाया दूसरा गोल्ड मेडल, 19 की उम्र में बनाया रिकॉर्ड

दिल्ली. भारतीय युवा वेटलिफ्टर जेरेमी लालरिनुंगा ने कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में कमाल कर दिया है. 19 साल के इस वेटलिफ्टर ने पुरुषों के 67 किलोग्राम भारवर्ग में गोल्ड मेडल जीता. कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में यह भारत का दूसरा गोल्ड मेडल है. लालरिननुंगा का 300 (140+160 KG) किलोग्राम वजन उठाने का प्रयास कॉमनवेल्थ गेम्स में स्वर्ण दिलाने में सफल रहा. जेरेमी ने चार साल के अंदर तीसरी बार तिरंगे की शान बढ़ाई है. उन्होंने साल 2018 युवा ओलंपिक में गोल्ड मेडल के अलावा पिछले साल कॉमनवेल्थ गेम्स में भी सोना जीता था. अब उनसे पेरिस ओलंपिक 2024 में गोल्ड मेडल की उम्मीद है.

जेरेमी ने समोआ के वेइपावा नीवो इयोन 293 किग्रा (127 किग्रा और 166 किग्रा) और नाइजीरिया के इडिडियोंग जोसेफ उमोआफिया 290 किग्रा (130 किग्रा और 160 किग्रा) को पछाड़ा जिन्हें क्रमश: सिल्वर और ब्रॉन्ज मेडल मिला. आइजोल के 19 साल के जेरेमी ने कॉमनवेल्थ गेम्स का स्नैच (140 किग्रा) और कुल भार (300 किग्रा) का रिकॉर्ड अपने नाम किया. इस दौरान वह चोटिल होने से भी बचे क्योंकि क्लीन एवं जर्क के प्रयास के दौरान दो बार वह काफी दर्द में दिखे.

जेरेमी ने स्नैच में अपने दूसरे प्रयास में 140 किग्रा वजन उठाकर अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी इडिडियोंग पर 10 किग्रा की बड़ी बढ़त बनाई. उन्होंने 136 किग्रा के प्रयास के साथ शुरुआत की थी.
जेरेमी ने अंतिम प्रयास में 143 किग्रा वजन उठाने की कोशिश की लेकिन नाकाम रहे.

क्लीन एवं जर्क में 2021 कॉमनवेल्थ गेम्स में विजेता जेरेमी ने 154 किग्रा वजन उठाकर शुरुआत की और अपने दूसरे प्रयास में 160 किग्रा वजन उठाया. वह अपने अंतिम प्रयास में 165 किग्रा वजन नहीं उठा सके. राष्ट्रीय स्तर के मुक्केबाज लालनेहतलुआंगा के बेटे जेरेमी ने मुक्केबाजी में भी हाथ आजमाए थे लेकिन वेटलिफ्टिंग से जुड़ गए क्योंकि इसमें सफल होने के लिए सिर्फ ताकत की जरूरत थी जिससे वह इसके प्रति आकर्षित हुए.

FacebookTwitterPinterestBloggerWhatsAppTumblrGmailLinkedInPocketPrintInstapaperCopy LinkDigg

Umh News

Umh News India Hindi News Channel By Main Tum Hum News Paper