Umh News India WEBSITE Umh News India

केदारनाथ गर्भगृह में श्रद्धालुओं के प्रवेश पर लगी रोक, जानिए कैसे हाेंगे दर्शन

रुद्रप्रयाग, केदारनाथ मंदिर के गर्भगृह में सोने की परत चढ़ाने का काम और यात्रियों की संख्या बढ़ जाने के कारण श्रद्धालुओं के गर्भगृह में प्रवेश पर रोक लगा दी गई है। मंदिर समिति सभा मंडप से ही लोगों को बाबा केदार के दर्शन कराए जा रहे हैं। बीते चार दिनों से रोजाना औसतन दस से 13 हजार यात्री केदारनाथ के दर्शन को पहुंच रहे हैं। साथ ही मंदिर के गर्भगृह में निर्माण कराया जा रहा है।

इसलिए मंदिर समिति ने यात्रियों के गर्भगृह में जाने पर प्रतिबंध लगा दिया है। यात्री सभा मंडप से ही शिवलिंग के दर्शन कर रहे हैं। हालांकि विशेष पूजाएं मंदिर के अंदर ही की जा रही हैं और मंदिर में पूजा का समय भी बढ़ा दिया है। यात्रियों की संख्या को देखते हुए रात्रि साढ़े 12 बजे से सुबह पांच बजे तक विशेष पूजाएं कराई जा रही हैं।

सामान्य यात्रियों को भी रात नौ बजे तक दर्शन कराए जा रहे हैं। मंदिर समिति के कार्याधिकारी आरसी तिवारी ने बताया कि यात्रियों की भारी भीड़ को देखते हुए गर्भगृह में प्रवेश पर रोक लगाई गई है। पूर्व में यात्री गर्भगृह के अंदर जाकर शिवलिंग के दर्शन कर रहे थे।

बरसात के बाद 160 सड़कें बंद 
उत्तराखंड में लगातार हो रही बारिश से प्रदेशभर में गंगोत्री नेशनल हाईवे समेत 160 सड़कें बंद हो गईं हैं। सड़कें बंद होने से जगह-जगह तीर्थ यात्री फंस गए हैं। प्रशासन द्वारा सड़कों को खोलने का काम लगातार जारी है, लेकिन खराब मौसम बाधा बना हुआ है। बारिश के बाद लगातार हो रहे भूस्खलन से सड़कों का खुलने और बंद होने का सिलसिला जारी है। भूस्खलन से बंद सड़कों के बाद प्रशासन ने ट्रैफिक भी डायवर्ट किया है। 

मौसम विभाग ने रविवार के लिए पर्वतीय क्षेत्रों में कहीं कहीं तीव्र बौछार, हल्की से मध्यम बारिश का यलो अलर्ट जारी किया है। प्रदेश में मानसून इस समय बेहद सक्रिय है। मौसम विभाग के अनुसार बारिश का सिलसिला अभी बना रहेगा। 18 को पर्वतीय क्षेत्रों के साथ ही कुछ मैदानी इलाकों में कहीं कहीं हल्की से मध्यम बारिश, गर्जना के साथ बौछार हो सकती है।

19 को कोई अलर्ट नहीं है, मगर कहीं कहीं हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। 20 को देहरादून, पौड़ी, नैनीताल, चम्पावत जिलों के कुछ स्थानों में व पर्वतीय जिलों के शेष हिस्सों में कहीं कहीं हल्की से मध्यम बारिश, गर्जना के साथ बौछार संभव है। 

FacebookTwitterPinterestBloggerWhatsAppTumblrGmailLinkedInPocketPrintInstapaperCopy LinkDigg

Umh News

Umh News India Hindi News Channel By Main Tum Hum News Paper