Uncategorized

खुलासा : सुखदेव गोगामेड़ी हत्याकांड: नवीन शेखावत भी साजिश में था शामिल तो फिर उसे क्यों मारी गोली?

Share News

 दिल्ली. राजस्थान के जयपुर में करणी सेना के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या (Sukhdev Singh Gogamedi Murder) के मामले में एक सनसनीखेज खुलासा हुआ है. दिल्ली पुलिस के क्राइम ब्रांच सूत्रों के मुताबिक चंडीगढ़ से पकड़े गए 2 शूटरों और उनके एक मददगार ने पूछताछ में साफ कबूल किया कि गोगामेड़ी की हत्या के वक्त मारे गए नवीन शेखावत ने ही उनकी पूरी रेकी की थी. नवीन शेखावत ही दोनों शूटरों नितिन फौजी और रोहित के लेकर सुखदेव सिंह गोगामेड़ी के घर पहुंचा था. आरोपियों ने पूछताछ में बड़ा खुलासा करते हुए बताया कि गोगामेड़ी की हत्या करने से करीब एक हफ्ते पहले इसकी साजिश रची गई थी.

राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या को अंजाम देने वाले शूटरों ने पुलिस को बताया कि नवीन शेखावत भी हत्या की साजिश में शामिल था. शूटरों ने यह भी बताया कि आखिर उन्होंने अपने की साथी नवीन शेखावत को गोली क्यों मार दी. बदमाशों का कहना है कि सीसीटीवी में देख सकते हैं जब फायरिंग की जा रही थी, तब नवीन डर की वजह से उनको रोकने की कोशिश कर रहा था. इसके कारण शूटरों के सामने हालात कुछ ऐसे बन गए कि नवीन शेखावत को गोली मारनी पड़ गई.

इससे पहले दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा के कार्यालय में सुखदेव सिंह गोगामेड़ी हत्याकांड के आरोपियों को चंडीगढ़ से पकड़कर लाया गया. दिल्ली पुलिस के स्पेशल सीपी (क्राइम) रवींद्र सिंह यादव ने बताया कि ‘राजस्थान के जयपुर में करणी सेना के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या के बारे में 3 मुख्य आरोपियों को दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच की एनडीआर की शाखा ने गिरफ्तार किया है…हम पिछले 72 घंटे से उन्हें ट्रैक कर रहे थे…चंडीगढ़ में जाकर हमने उनको पकड़ा है. हम अब उन्हें राजस्थान पुलिस के हवाले करेंगे.’

वहीं जयपुर में राजस्थान भाजपा के अध्यक्ष सी.पी. जोशी ने कहा कि ‘सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या ने सभी को स्तब्ध किया है. इसकी जानकारी आते ही मैंने राज्यपाल, मुख्य सचिव, डीजीपी सहित सभी अधिकारियों से बात की…राजस्थान में अब अपराध और अपराधियों का कोई स्थान नहीं होगा. मैं सारी एजेंसियों का धन्यवाद देता हूं कि उन्होंने तत्काल कार्रवाई करते हुए अपराधियों को गिरफ्तार किया है.’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *