Uncategorized

हाईकोर्ट ने सरकार से कहा, ट्रक ड्राइवरों की हड़ताल खत्म करने के लिए कार्रवाई करें

Share News

दिल्ली. मोटर चालकों से जुड़े ‘हिट-एंड-रन’ सड़क दुर्घटना मामलों के संबंध में नए दंड कानून में प्रावधान के खिलाफ ट्रक चालकों ने मंगलवार को लगातार दूसरे दिन देश के अलग-अलग राज्यों में विरोध- प्रदर्शन किया. महाराष्ट्र में प्रदर्शन की वजह से कुछ स्थानों पर ईंधन की कमी की आशंका पैदा हो गई. भारतीय दंड विधान की जगह लेने जा रही भारतीय न्याय संहिता में ऐसे चालकों के लिए 10 साल तक की सजा का प्रावधान है जो लापरवाही से गाड़ी चलाकर भीषण सड़क हादसे को अंजाम देने के बाद पुलिस या प्रशासन के किसी अफसर को दुर्घटना की सूचना दिए बगैर मौके से फरार हो जाते हैं.

महाराष्ट्र के पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन के सचिव अकील अब्बास ने बताया कि छत्रपति संभाजीनगर में कुछ पेट्रोल पंपों पर काम पहले ही बंद हो चुका है. अधिकारियों ने बताया कि सोलापुर, कोल्हापुर, नागपुर और गोंदिया जिलों में भी ‘रास्ता रोको’ प्रदर्शन किया गया, वहीं नवी मुंबई और अन्य स्थानों पर स्थिति नियंत्रण में है.

वहीं छत्तीसगढ़ के कई हिस्सों में यात्री बसों के चालकों ने ‘हिट-एंड-रन’ मामलों से संबंधित नए कानून को वापस लेने की मांग को लेकर काम बंद किया जिससे यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ा. विरोध प्रदर्शन में ट्रक चालक भी शामिल थे जिससे सामान ढुलाई प्रभावित हुई. ट्रक चालकों की हड़ताल के कारण पेट्रोल-डीजल की आपूर्ति प्रभावित होने के भय से शहरों में पेट्रोल पंप के सामने लोगों की लंबी-लंबी कतारें लग गईं.

‘हिट-एंड-रन’ मामलों से संबंधित नये कानून के विरोध में ट्रकों और टैंकरों सहित वाणिज्यिक वाहनों के चालकों ने मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों में काम बंद कर दिया. प्रदर्शनकारी चालकों ने मुंबई-आगरा राष्ट्रीय राजमार्ग और इंदौर में कुछ सड़कों को भी अवरुद्ध कर दिया, जिससे आवश्यक वस्तुओं को ले जाने वाली गाड़ियों की आवाजाही प्रभावित हुई.

राजस्थान में ड्राइवरों के चक्का जाम को लेकर मुख्यमंत्री भजन लाल शर्मा आज ट्रक यूनियनों के पदाधिकारियों के साथ बैठक करेंगे. बताया गया कि जिला कलेक्टरों के साथ विडियो कांफ्रेंसिंग के माध्‍यम से यह बैठक होगी.

तीन नए क्रिमिनल कानून के विरोध में मैनपुरी के करहल में आगरा लखनऊ एक्सप्रेस वे पर ट्रक ड्राइवरों ने चक्का जाम करते हुए सरकार के खिलाफ नारेबाजी की. ड्राइवरों ने दर्जनों ट्रक रोक कर प्रदर्शन किया. एएसपी राहुल मिठास ने बताया कि करहल में आगरा लखनऊ एक्सप्रेसवे पर कुछ ट्रक ड्राइवरों ने पत्थर फेके, जिससे लोगों ने अपनी गाड़िया रोक ली और मौके पर पुलिस बल ने पहुंच कर मामले को कंट्रोल किया.

संगरूर में बड़े इंडियन ऑयल डिपो के सामने पहुंचे डिप्टी कमिश्नर संगरूर जतिंदर जोरवाल और एसएसपी संगरूर सरताज सिंह चाहल ने वहां चल रही पेट्रोल-डीजल वाले टैंकर की हड़ताल खत्म करवा दी है. उन्होंने कहा, “हमने पेट्रोल टैंकर यूनियन के साथ समझौता किया और उनकी मांगों पर उन्हें विश्वास दिलाने के बाद हमने हड़ताल खत्म करवा दी और अभी इंडियन ऑयल के डिपो में से तेल वाले टैंकरों को फुल करवाकर पेट्रोल पंपों पर भेजा जा रहा है.”

देश भर में चल रही ट्रक ड्राइवरों की हड़ताल को लेकर जबलपुर हाईकोर्ट ने मंगलवार को अहम आदेश दिया है. हाईकोर्ट ने मध्य प्रदेश सरकार को सख्त हिदायत दी है कि इस हड़ताल को खत्म करने के लिए आज ही कार्रवाई की जाए, जिस पर सरकार की ओर से एडवोकेट जनरल द्वारा यह वचन दिया गया है कि हड़ताल को खत्म करने के लिए सरकार की तरफ से आज ही कार्रवाई की जाएगी. दरअसल, जबलपुर के सामाजिक संगठन नागरिक उपभोक्ता मार्गदर्शक मंच की ओर से हाईकोर्ट में एक याचिका दायर कर ट्रक ड्राइवर्स की हड़ताल को असंवैधानिक करार दिया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *