Crime News

उन्नाव : प्रेमिका के घरवालों ने बुलाया, पीटकर मार डाला, पहले कोल्ड ड्रिंक पिलाई फिर बरसाए लाठी-डंडे

Share News
9 / 100

उन्नाव, लड़की के घरवालों ने उसके प्रेमी को पीट-पीटकर मार डाला। इसके बाद आरोपी घर से भाग गए। युवक की 9 जुलाई को शादी होनी थी। लड़के के पिता ने कहा, शुक्रवार दोपहर को लड़की के घरवालों ने बेटे को फोन करके बुलाया। वहां उसे कोल्ड ड्रिंक पिलाई।

इसके बाद उन्होंने उसे लाठी-डंडों से इतना मारा कि वह लहूलुहान होकर गिर गया। उसका सिर फाड़ दिया। सूचना पर लड़के के घरवाले मौके पर पहुंचे। बेटे का शव पड़ा देख हंगामा करने लगे। वारदात की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची। शव पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा। पुलिस ने प्रेमिका के पिता को हिरासत में लिया है। अन्य आरोपियों की तलाश की जा रही है। मामला गंगा घाट कोतवाली क्षेत्र का है।

बसधना गांव में सहदेव नाई रहते हैं। उनका 22 साल का बेटा आशीष शुक्रवार दोपहर पड़ोस के ही गांव में रहने वाली एक 16 साल की एक लड़की से मिलने पहुंचा था। दोनों खेत में खड़े होकर बात कर रहे थे।

इसी बीच दोनों को लड़की के घर वालों ने देख लिया। वे लोग चिल्लाने लगे, तो आशीष भागने लगा। मगर, लड़की के घरवालों ने आशीष को दौड़ाकर पकड़ लिया। इसके बाद उसे पीटने लगे। उसे लाठी-डंडों से इतना मारा कि खून से लथपथ होकर वहीं पर गिर पड़ा।

आशीष के सिर पर गंभीर चोट आई। उसे मृत समझकर आरोपी मौके से भाग निकले। इसी बीच आसपास के लोगों ने आशीष के घरवालों को बेटे पर हमले की जानकारी दी, तो वे लोग मौके पर पहुंचे। घरवाले उसे प्राइवेट अस्पताल लेकर गए, जहां से डॉक्टरों ने जिला अस्पताल रेफर कर दिया। मगर, अस्पताल ले जाते समय रास्ते में ही आशीष की मौत हो गई।

इसके बाद घरवाले शव लेकर गांव आ गए और हंगामा करने लगे। उन्होंने आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर नारेबाजी शुरू कर दी। सूचना पर पुलिस पहुंची और हंगामा कर रहे लोगों को समझा-बुझाकर शांत कराया। पुलिस ने भरोसा दिया कि इस मामले में सख्त कार्रवाई होगी।

गंगा घाट कोतवाली प्रभारी रामफल प्रजापति ने मामले की जांच पड़ताल करने के साथ ही आशीष के पिता से भी जानकारी ली। लड़की के पिता को हिरासत में लिया गया है। अन्य आरोपियों की तलाश के लिए पुलिस टीमें बनाई गई हैं।

मृतक के पिता सहदेव ने बताया कि उसके बेटे को फोन करके लड़की के घरवालों ने बुलाया। कोल्ड ड्रिंक पिलाई। वहां उसकी बहस होने लगी। फिर लड़की के घर वालों ने बेटे को पीट-पीटकर मार डाला। हमें सूचना मिली तो भागकर वहां पहुंचे। देखा, वहां मेरा बेटा खून से लथपथ पड़ा है। उसके सिर पर किसी भारी चीज से मारने के निशान थे। हम उसे लेकर अस्पताल गए, लेकिन उसकी मौत हो गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *